Sexual Hygiene Tips: Keep these 4 things in mind for a healthy sex life

Laziness or sleepiness usually begin after sexual intercourse, but did you know? One of the most important requirements of a healthy sex life is to take care of good sexual hygiene. Sexual health is often ignored by people. Problems such as urinary tract infections, sexually transmitted diseases, blisters, burns or fungal infections are seen due to poor sexual health. It is very important to take care of your sexual health to prevent any such uncomfortable medical conditions, especially after sexual intercourse. This is also because there is more possibility of infection after sex. To prevent bacteria, microbes and infection, it is necessary to take care of hygiene after sex.

Sexual Hygiene


Faridabad-based sexologist Dr. Gyan Prakash Singh has given some tips:

  • Sexual activity should be done in a clean area.
  • The partner should check that the partner does not have sexual dysfunction (STD) or fungal infection.
  • If you are using a protective toy, make sure they are clean.
  • Clean yourself before the inter-course (especially wash your hands).

Keep these things in mind:

Passing urine after sex:

The general rule for healthy sex is to urinate immediately after sexual intercourse. This will help you naturally clean any bacteria that comes close to your urethra due to sex. Thus, it is necessary to urinate before and after the inter-course. With this, you can protect yourself from serious infections.

Clean Yourself:

After a long and enjoyable sexual activity, it is necessary to clean yourself with toilet paper, tissue paper, soft cloth, warm wash cloth or a clean towel. It helps you feel clean. Apart from this, it also reduces the chances of infection after sex.

Clean undergarments:

It is very important to wear clean undergarments. On other days, everyone should wear clean and new undergarments. Wearing the same undergarments for long periods of time can cause bacteria and both of you may get infected with each other.

Use only sexual hygiene wipes:

The most important thing is that your sexual organs are more sensitive than the skin of your hands and face. It is not good to use regular wipes to clean your sex organs after sex. Always use sanitary wipes or sexual hygiene wipes, which are now easily available at all medical stores. Also, do not rub your sex organs with your clothes, instead clean it slowly. Apart from this, first start cleaning with Yonimukh and then move towards the anus, cleaning slowly and carefully.

To know more visit our site : https://sexologistfaridabad.com OR call : +91 9811046766

शीघ्रपतन का इलाज के लिए घरेलु नुस्खे व दवा

शीघ्रपतन (Premature ejaculation) कोई बीमारी नहीं है, शरीर के कुछ खास बदलाव की वजह से शीघ्रपतन (Premature ejaculation) की समस्या होती है। शीघ्रपतन (Premature ejaculation) का इलाज आपको आसानी से करना है, तो पहले शीघ्रपतन (Premature ejaculation) के कारण को समझो फिर उसके लिए जरूरत के अनुसार आप शीघ्रपतन (Premature ejaculation) के घरेलु नुस्खे, शीघ्रपतन (Premature ejaculation) की दवा, योग और कुछ खास टिप्स का उपयोग करे।

विश्व आरोग्य संस्थान के अनुसार शीघ्रपतन (Premature ejaculation) की समस्या आज विश्व के 40 % पुरुषो में देखने को मिलती है।  जिसके लिए सबसे महत्वपूर्ण कोई चीज़ जवाबदार है, तो वो आज की जीवन शैली और यौन के बारे मे सही से जानकारी न होना।

सामान्य भाषा में संभोग के समय वीर्य जल्द निकल जाना इसे शीघ्रपतन (Premature ejaculation) कहते है।  एक बात पर ध्यान देना जरुरी है, कि आजतक किसी ने भी साबित नहीं किया की वीर्य निकलने का कम से कम और ज्यादा से ज्यादा समय कितना होना चाहिए। 

कई लोगो में सम्भोग के पहले ही वीर्य निकल जाता है, तो कई लोगो में योनि प्रवेश के बाद तुरंत वीर्य निकल जाता है। इस परिस्थिति में स्त्री और पुरुष में से कोई भी सम्भोग का आनंद नहीं ले सकता। और वो डिप्रेशन में चले जाते है।

Premature ejaculation

शीघ्रपतन (Premature ejaculation) का कारण

आयुर्वेदा में शीघ्रपतन (Premature ejaculation) और यौन समस्या के लिए अलग से वाजीकरण नाम से एक भाग दिया गया है। वाजीकरण एक महत्व की चिकित्सा है , जिसको ठीक से पालन करना चाहिए। 

शीघ्रपतन (Premature ejaculation) और आयुर्वेद के संहिता में बताया हुआ शुक्रग़त वात एक जैसी बीमारी है।

शीघ्रपतन (Premature ejaculation) होने के पीछे का सबसे महत्वपूर्ण कारण आयुर्वेद में बताए तीन दोष में से वात दोष का बढ़ना। 

शरीर का मेटाबोलिज्म ठीक न होना। 

ज्यादा भय, टेंसन व क्रोध का होना। 

रसादि धातु में गड़बड़ी होना। 

धूम्रपान, तम्बाकू, आल्कोहोल जैसी चीज़ो का व्यसन होना। 

ठीक से भोजन न लेना। 

अत्यधिक मैथुन करना। 

अयोनि (हस्त ,गुदा ) में मैथुन करना। 

तीखा, कड़वा, उष्ण, कषाय, लवण पदार्थ का ज्यादा सेवन करना। 

शुक्र धातु का क्षय होना। 

यह सब शीघ्रपतन (Premature ejaculation) के कारण है।

शीघ्रपतन (Premature ejaculation) का इलाज

शीघ्रपतन (Premature ejaculation) का परमेंट इलाज 100 %  हो सकता है। इसके लिए आपको कुछ समय के शीघ्रपतन (Premature ejaculation) रोकने की दवा का प्रयोग करना होगा। 

हम  सबसे पहले शीघ्रपतन (Premature ejaculation) के उपाय के लिए  शीघ्रपतन (Premature ejaculation) के घरेलु नुस्खे के बारेमे जानकारी प्राप्त करंगे उसके बाद शीघ्रपतन (Premature ejaculation) की दवा के बारे मे जानंगे। 

अगर आपको कुछ ही समय से शीघ्रपतन (Premature ejaculation) की समस्या है, तो आपको घरेलु नुस्खे की मदद लेनी चाहिए पर अगर शीघ्रपतन (Premature ejaculation) समस्या बहुत समय से है, तो आपको शीघ्रपतन (Premature ejaculation) की आयुर्वेदिक दवा लेनी चाहिए।

शीघ्रपतन (Premature ejaculation) का घरेलु इलाज

हम कुछ ख़ास व विशेष शीघ्रपतन (Premature ejaculation) के नुस्खों के बारे मे जानेंगे, जो आपको शीघ्रपतन (Premature ejaculation) का इलाज के लिए उपयोगी हो।

कौंचा चूर्ण

कौंचा चूर्ण  का यौन समस्या में एक विशेष महत्व है।  यह शुक्र धातु को ठीक करके कमजोरी दूर करता है।  वीर्य को निकलने से रोकता है। व गाढ़ा बनाता है।

कैसे सेवन करे ?

आपको सुबह शाम एक चम्मच कौंचा चूर्ण और एक चम्मच शक़्कर को एक ग्लास दूध में उबाल कर सेवन करना चाहिए। 

कौंचा चूर्ण आप कोई भी आयुर्वेदिक दुकान से खरीद सकते है।

अश्वगंधा चूर्ण 

अश्वगंधा को आयुर्वेद पुरुषो के लगती समस्या जैसे की शुक्र की कमी , कमजोरी , वगरैह में उपयोगी बताया है। अश्वगंधा का सेवन करने में मुख्य समस्या यह होती है, की उसकी तासीर गर्म है। अब जिनकी पहले से अपनी तासीर गर्म है उनको अश्वगंधा का सेवन नहीं करना चाहिए।

कैसे सेवन करे ?

एक चम्मच अश्वगंधा चूर्ण और एक चम्मच शक़्कर को दूध 1 ग्लास दूध में उबाल कर रोज सुबह शाम सेवन करना चाहिए।

बला तेल 

बला और उसके जैसी शक्तिशाली औषधि को एक विशेष रूप से तल के तेल में तैयार किया जाता है। जिसका उपयोग करने से लिंग के स्नायु मजबूत बनते है। शीघ्रपतन  से छुटकारा मिलता है।

कैसे प्रयोग करे ?

आपको 1 चम्मच बला तेल को थोड़ा गुनगुना करके सुबह शाम लिंग पर मालिश करनी है। यह प्रयोग आपको कुछ समय के कायम के लिए करना है। 

अगर आपको बला तेल नहीं मिलता तो, आप सादा तिल का तेल का भी प्रयोग कर सकते है।

अकरकरा चूर्ण

अकरकरा यौन क्षमता बढ़ता है। यह वीर्य को रोकता है जिससे टाइमिंग बढती है। यह सम्भोग की इच्छा बढ़ाता है। यौन की लगभग सभी प्रकार की समस्या के लिए यह बेस्ट नुस्खा है। 

कैसे सेवन करे ?

सुबह शाम एक चम्मच अकरकरा चूर्ण को गुनगुने पानी के साथ सेवन करना है।

शीघ्रपतन की दवा 

अब हम शीघ्रपतन (Premature ejaculation) की दवा के बारेमे जानेंगे।  यह दवा न केवल शीघ्रपतन (Premature ejaculation) से छुटकारा दिलाती है, बल्कि उससे भी बढ़कर यह जिनका लिंग कमजोर या छोटा है , जिनको बहुत ज्यादा टाइमिंग बढ़ानी है। उनके लिए बेस्ट है। 

यह सभी दवाई आयुर्वेद के उच्च कोटि के औषदि जैसे की शिलाजीत , सुवर्ण , वगैरह से बनाई गई है।

  • अभ्रक भस्म 
  • शिलाजतु 
  • पूर्णचन्द्रा रस 
  • मकरध्वज 
  • कामिनी वीद्रावन रस 
  • नवजीवन रस पुनर्नवा मंडूर 
  • त्रिबंग भस्म 
  • आरोग्यवर्धिनी वटी 
  • चन्द्रप्रभा वटी 
  • पुष्यनगु चूर्ण 
  • दशमूल क्वाथ 
  • अशोकारिस्ट 
  • फलघृत 
  • कामदेव घृत 
  • कल्याण घृत 
  • केसरपाक 
  • प्रवाल भस्म 
  • प्रजांत रस 
  • सुवर्णवसंत मालिनी 

यह शीघ्रपतन (Premature ejaculation) की आयुर्वेदिक दवा है, अगर इनको ठीक से लिया जाय तो कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है।  साथ में इसके फायदे तो इतने है की हम सोच भी नहीं सकते।

पर अगर बिना सोच समझ कर एक भी दवाई ली तो उनकी साइड एफक्ट्स से लिवर और किडनी तक ख़राब हो सकते है।

आप शीघ्रपतन (Premature ejaculation) की दवाई के लिए आपके आसपास कोई अच्छा आयुर्वेदिक डॉक्टर को पूछ कर ले सकते है। या फिर हमे भी आप सम्पर्क कर सकते है।
यहाँ क्लीक करके पूछ सकते है  +91 9811046766  यह हमारा व्हाट्सअप नंबर है।